स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 | uplabour.gov.in | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana Apply | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana PDF Download

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 | uplabour.gov.in | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana | Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana Apply

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 सरकार द्वारा लांच किया गया एक ऑनलाइन प्लेटफार्म है। यह पर्यटन योजना उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए है, जो आर्थिक तंगी के कारण धार्मिक स्थानों की यात्रा नहीं कर पाते हैं, उन लोगों के लिए सरकार ने यह स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 लॉन्च किया है। यह एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जहां पर आपको सरकार द्वारा धार्मिक स्थानों की यात्रा करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

जिसके लिए आपको Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana वेबसाइट पर जाकर आवेदन देना होगा। सरकार ने देश के नागरिको की धार्मिक भावना का ध्यान रखते हुए यह स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना को लॉन्च किया है। आज हम आपको स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 के उद्देश्य, लाभ, पात्रता और आवेदन प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं तो कृपया आप इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़े।

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021

इस स्कीम के अंतर्गत सरकार श्रमिक नागरिकों को धार्मिक स्थानों की यात्रा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। यह सहायता सिर्फ उत्तर प्रदेश के श्रमिक नागरिकों के लिए प्रदान की जाएगी। Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana 2021 के दौरान जो धनराशि प्रदान की जाएगी वह कुल ₹12000 की धनराशि होगी और यह उत्तर प्रदेश के नागरिकों को ही प्रदान की जाएगी जो की फैक्ट्रियों में काम करते हैं।

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 का लाभ 20,500 फैक्ट्रियों में काम कर रहे 6.5 लाख लोग उठा सकते हैं। स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना से 1.5 करोड़ मजदूरों को लाभ होगा। इस स्कीम के माध्यम से श्रमिकों को धार्मिक यात्रा पर जाने का अवसर प्राप्त होगा। इस ्कीम का लाभ उठाने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन देना पड़ेगा जो कि 24 जनवरी 2020 से शुरू हो जाएगा।

गन्ना पर्ची ऑनलाइन कैलेंडर 2021: Ganna Parchi Calender Online [caneup.in]

कुछ धार्मिक स्थलों के नाम जो Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana के अंतर्गत आते हैं :-

  • अयोध्या
  • मथुरा
  • प्रयागराज
  • वाराणसी
  • हस्तिनापुर (मेरठ)
  • गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर
  • शाकुंभरी देवी तथा वैष्णो देवी मंदिर

स्वामी विवेकानंद पर्यटन योजना 2021 की विशेषताएं

योजना का नामइस स्कीम का नाम स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 है।
किस ने लांच कीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के लोग
उद्देश्यउत्तर प्रदेश के लोगों को धार्मिक यात्रा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
ऑफिशियल वेबसाइटuplabour.gov.in
साल2021
आर्थिक मदद₹12000

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana 2021 का लक्ष्य

स्वामी विवेकानंद पर्यटन योजना 2021 2021 का मुख्य लक्ष्य यह है कि उत्तर प्रदेश के श्रमिक नागरिकों को धार्मिक स्थानों की यात्रा करने के लिए जो आर्थिक कठिनाई का सामना करना पड़ता है उसका सामना ना करना पड़े जिसके लिए सरकार उन्हें ₹12000 तक की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। कई बार ऐसा हुआ है कि लोग धार्मिक स्थानों की यात्रा करना चाहते हैं पर पैसों की तंगी के कारण धार्मिक स्थलों की यात्रा नहीं कर पाते हैं स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना 2021 के अंतर्गत उन सभी लोगों को इस कठिनाई से छुटकारा प्राप्त होगा जिस वजह से उत्तर प्रदेश का कोई भी नागरिक धार्मिक स्थलों की यात्रा से वंचित नहीं रहेगा।

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2021 के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी और लाभ

  1. इस योजना की सहायता से उत्तर प्रदेश सरकार लेबर बोर्ड वर्ग के लोगों को धार्मिक यात्राओं के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।
  2. स्वामी विवेकानंद पर्यटन योजना 2021 सिर्फ उत्तर प्रदेश के नागरिकों के लिए ही है।
  3. Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2021 के दौरान जो आर्थिक धनराशि प्रदान की जाएगी वह ₹12000 की होगी।
  4. Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2021 का लाभ श्रमिक श्रेणी यानी कि जो लोग फैक्ट्री में काम करते हैं वही उठा सकते हैं।
  5. स्वामी विवेकानंद पर्यटन योजना 2021 की सहायता से उत्तर प्रदेश के लोगों को धार्मिक स्थलों की यात्रा करने का अवसर प्राप्त होगा।
  6. इस योजना पर आवेदन 4 जनवरी 2020 से शुरू हो जाएगा।
  7. इस पोर्टल पर लेबर बोर्ड के लोग ही पंजीकृत कर सकते हैं और इस योजना से डेढ़ करोड़ श्रमिक मजदूरों को लाभ पहुंचेगा। Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana 2021 पर आवेदन देने की क्या पात्रता है
  8. सर्वप्रथम स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना 2021 में आवेदन देने के लिए व्यक्ति को उत्तर प्रदेश का स्थाई नागरिक होना आवश्यक है।
  9. जिस व्यक्ति ने Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojanaमें आवेदन देना है वह मजदूर होना चाहिए और उसे राज्य के वेलफेयर लेबर बोर्ड के अंतर्गत पंजीकृत होना जरूरी है।
  10. जिस व्यक्ति ने ने स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना में आवेदन देना है उसे मजदूर या किसी फैक्ट्री में काम करता होना चाहिए।

कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज स्वामी विवेकानंद के पर्यटन योजना 2021 में पंजीकृत करने के लिए

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आईडी कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना 2021 में आवेदन किस प्रकार से दें

सबसे पहले आपको स्कीम की वेबसाइट uplabour.gov.in पर जाकर फॉर्म को डाउनलोड और प्रिंट करना होगा।

  • इसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई सभी जरूरी जानकारी भरनी होगी।
  • इसके बाद आपको यह फार्म उत्तर प्रदेश के लेबर बोर्ड विभाग में जमा करवाना है।
  • उपरोक्त नियमों का पालन करके आप आवेदन दे पाएंगे।

यह थी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी स्वामी विवेकानंद पर्यटन योजना 2021 के बारे में इस योजना में श्रमिकों नागरिकों को धार्मिक स्थलों की यात्रा के लिए ₹12000 तक की आर्थिक सहायता प्रदान की गई है। जो कि बहुत अच्छी बात है और इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के सभी श्रमिक नागरिक उठा सकते हैं और इस योजना से डेढ़ करोड़ श्रमिक नागरिकों को फायदा होगा। पैसों की तंगी की वजह से जो लोग धार्मिक स्थानों की यात्रा नहीं कर पाते थे।

अब वह भी बहुत आसानी से धार्मिक स्थलों की यात्राओं का आनंद उठा सकेंगे। इस पर्यटन योजना के द्वारा उत्तर प्रदेश के जो गरीब वर्ग के लोग आते हैं। उनको काफी फायदा मिलेगा जो लोग धार्मिक स्थानों की यात्रा करना चाहते हैं। उन्हें धार्मिक स्थानों की यात्रा करने में कोई भी कठिनाई नहीं होगी और सरकार द्वारा उन्हें आर्थिक मदद के रूप में ₹12000 की धनराशि प्रदान की जाएगी। उत्तर प्रदेश सरकार ने अपने नागरिकों के लिए यह कदम उठाकर बहुत ही अच्छा कार्य किया है।

About Raj Kumar

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम राज कुमार जयसवाल है मई गोपालगंज बिहार से हूँ मै इस ब्लॉग का फाउंडर और ऑथर हू।

Leave a Comment