प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना govt scheme for pregnant womens

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना को प्रधानमंत्री जी द्वारा महिलाओं के लिए खास तौर पर लाया गया है। जो कि गर्भवती महिलाओं के लिए है। दोस्तों जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं हम सभी के लिए देश में विभिन्न प्रकार की योजनाओं को सरकार द्वारा और प्रधानमंत्री जी द्वारा लाया जाता है। विद्यार्थियों के लिए होती है, जो लोग नौकरी ढूंढ रहे हैं उनके लिए भी कोई ना कोई योजना होती है। किसानों के लिए भी विभिन्न प्रकार की योजनाओं को लाया जाता है और ऐसे अलग-अलग प्रकार के कैटेगरी है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना govt scheme for pregnant womens

और भी बहुत सी कैटेगरी में हर किसी को कोई ना कोई सुविधा कोई ना कोई योजना का लाभ उठाने के लिए जरूर मिलता है। ऐसे ही गर्भवती महिलाओं के लिए भी खास तौर पर योजना को लेकर आया जाता है। और आज के अर्टिकल में हम आपको प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना के बारे में बताएंगे जो कि प्रधानमंत्री जी द्वारा गर्भवती महिलाओं के लिए लांच किया गया है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना क्या है?

भारत सरकार द्वारा गर्भवती महिलाओं के हित में जारी किया जाने वाले एक महत्वपूर्ण पहल में से एक प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना है। जिसके तहत गर्भवती महिलाओं को महीने की निश्चित 9 तारीख को उनकी देखभाल करने के लिए योजना है। इस में गुणवत्ता युक्त प्रसव पूर्व देखभाल प्रदान करने के लिए सुनिश्चित किया जा रहा है।

यह प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान एक ऐसा कंपलीट पैकेज है जिसके तहत गर्भवती महिलाओं को सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों में जाने के पश्चात गर्भावस्था के दूसरे और तीसरे महीने की अवधि जो कि गर्भावस्था के 4 महीने के बाद होती है। इसके दौरान पूर्ण रूप से प्रसव देखभाल करने और सभी सेवाओं का न्यूनतम लाभ उठाने के लिए मौका प्रदान किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना का उद्देश्य

गर्भवती महिलाओं के लिए लांच की गई इस योजना का कुछ मुख्य उद्देश है जिसको नीचे निम्नलिखित प्रकार से बताया है।

  • इस योजना के अंतर्गत चिकित्सा द्वारा या फिर विशेषज्ञों द्वारा दूसरी या फिर तीसरी तिमाही की सभी गर्भवती महिलाओं को एक प्रसव पूर्व जांच कम से कम बार मे सुनिश्चित करना है।
  • योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को सभी प्रकार की उपयोगिता निक सेवाएं प्रदान की जाएंगी।
  • उपयुक्त नैदानिक अतिथियों के लिए भी स्क्रीनिंग की सुविधा गर्भवती महिलाओं के लिए उपलब्ध कराई गई है।
  • कोई भी महिला जिनको दैननिक स्थितियां जैसे कि पालता गर्भावस्था प्रेरित उच्च रक्तचाप और गर्भावधि मधुमेह आदि का उचित प्रबंधन भी किया जा रहा है।
  • महिलाओं के लिए उचित परामर्श सेवाओं को जैसे कि उचित पर आलेखन रखने के अनुदेश भी दिए गए हैं।
  • यदि कोई महिला ऐसी है जो गर्भवती है और विशेष रूप से उसकी पहचान किसी भी जोखिम कारण या फिर सहरुग्नता स्थिति में की गई है तब ऐसी महिलाओं को उचित जन्म योजना और जटिलता की तैयारी करने के लिए भी सुविधा प्रदान की गई है।
  • किसी भी प्रस्तुति जाकर चिकित्सा के इतिहास तथा मौजूदा नैदानिक स्थिति के आधार पर महिलाओं को उच्च जोखिम गर्भधारण की पहचान के लिए भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है उसी के साथ साथ लाइन सूचित करने के आदेश भी दिए गए हैं।
  • बहुत सारी महिलाएं कुपोषित होती है जिनकी वजह से उन्हें काफी सारी बीमारियां लगने का डर भी होता है। ऐसे महिलाओं के लिए जल्दी रोग पता करने के लिए भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है।
  • गर्भवती महिलाओं को घोषित होने पर पर्याप्त और उचित प्रबंधन का विशेष जोर दिया जा रहा है।
  • जो महिलाएं तरुण अवस्था में होती है और जल्दी ही बच्चों को जन्म देने वाली होती है ऐसी महिलाओं के लिए विशेष रूप से देखभाल की सुविधा को उपलब्ध करा गया है और ऐसी महिलाओं को ज्यादा ध्यान दिया जाएगा उनकी सभी जरूरतों का ध्यान रखा जाएगा।
  • अधिक जानकारी के लिए आप https://pmsma.nhp.gov.in/?lang=hi पर जा सकते हैं।

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना का मुख्य तथ्य

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना के कुछ मुख्य तथ्य है जिसकी जानकारी को नीचे निम्नलिखित प्रकार से हमने दर्शाया है इस को ध्यान पूर्वक से देखें।

दोस्तों इस योजना के अंतर्गत भारत में 3 करोड़ से भी अधिक गर्भवती महिलाओं को आमंत्रित किया जाने के लिए सुनिश्चित करने के लिए आमंत्रण दिया गया है और इस योजना को शुरू किया गया है। हमने आपको पहले भी बताया कि हर महीने की 9 तारीख को देखभाल की जांच की जाएगी जिसमें जांच और दवा के सहित दोनों का न्यूनतम पैकेज प्रदान किया जाएगा। यदिगर्भवती महिला को यदि किसी महीने में 9 तारीख को यानी कि रविवार या फिर राजकीय अवकाश होने पर लाभ प्राप्त नहीं होता है, तब ऐसी स्थिति में अगले कार्य दिवस पर इस दिवस को आयोजित किया जाएगा और उस महिला को लाभ दिया जाएगा।

बिहार आंगनबाड़ी लाभार्थी योजना ऑनलाइन पंजीकरण : Bihar Anganwadi Labharthi Yojana

इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान की जा रही है उसी के साथ है इनको ध्यान रखने के लिए भी समय शेष जानकारी प्रदान की जा रही है सेवाओं को स्वास्थ्य सुविधा आउटरीच पर भी नियमित एएनसी के अतिरिक्त प्रदान किया जा रहा है। बहुत सारी ऐसी महिलाएं होती हैं जो कुपोषित होती है और उन्हें यह भी नहीं पता होता कि उन्हें ध्यान कैसे रखना है तो ऐसे सीधी में भी महिलाओं को खास तौर पर सभी सूची प्रदान की जाएगी और महिलाओं को खास तौर पर ध्यान रखा जाएगा ताकि उनके बच्चे का जन्म आसानी से हो सके और उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

योजना के तहत ध्यान देने वाली कुछ महत्वपूर्ण बातें

क्या योजना सभी ग्रामीण तथा क्षेत्रीय महिलाओं के लिए उपलब्ध है परंतु मुख्य तौर पर इस योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं तक पहुंचाने का है। क्योंकि वहां पर और सुविधाएं बहुत ज्यादा होती है जिसकी वजह से गर्भवती महिलाओं को काफी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। और सही ज्ञान ना होने की वजह से बच्चे मर जाते हैं और फिर बच्चे कुपोषित भी पैदा हो जाते हैं।

साथ ही साथ में माफी काफी ज्यादा कमजोर होने लग जाती है स्थिति में इन सभी चीजों पर ध्यान होना बहुत ज्यादा जरूरी है। और आजकल की सुविधाओं को प्रधानमंत्री द्वारा बढ़ा दिया गया है, और विशेष रूप से प्रयास किया जा रहा है कि ग्रामीण क्षेत्र के रहने वाले जितने भी गर्भवती महिलाएं उन सभी को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत लाभ प्राप्त हो।

कृपया यह पढ़ें:- PM Modi Yojana list 2021|मोदी सरकार योजना- पीएम मोदी योजना 2021

योजना के तहत महिलाओं को होने वाले लाभ

  • आजकल क्लीनिक में कहां पर ज्यादा पैसा लगता है और हर कोई इस हालत में नहीं होता कि वह इतने सारे खर्चे उठा सके। इसलिए सार्वजनिक स्थानों पर इन सब सुविधाओं का लाभ गर्भवती महिलाओं के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है।
  • खास तौर पर प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सभी सुविधाओं की व्यवस्था सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्र जैसे कि पीएचसी सीएचसी डीएच आदि पर उपलब्ध कराया जा रहा है ताकि लोग आसानी से संपर्क साध सके।
  • ग्रामीण क्षेत्र के साथ अब शहरी क्षेत्र को भी कवर करना शुरू करने का निर्देश दिया गया है, क्योंकि, कुछ शहरी क्षेत्रों में भी लोगों को इस सुविधा की आवश्यकता है, आर्थिक स्थिति सही ना होने की वजह से इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।
  • यदि निजी क्षेत्र के ओबीजी बाय विशेषज्ञों और चिकित्सकों को जहां पर से सरकारी क्षेत्र के लिए चिकित्सक उपलब्ध या फिर पर्याप्त नहीं होते हैं। तब ऐसी स्थिति में सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों में स्वैच्छिक सेवाओं को प्रदान करने का निर्देश भी उपलब्ध कराया गया है जिसके लिए सरकार द्वारा लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा है।
  • बहुत सी महिलाएं उच्च जोखिम वाली परिस्थिति में होती है ऐसे सीखी में उनका फॉलो करना और अभियान के द्वारा महत्वपूर्ण घटकों को ध्यान रखना ऐसी चीजों पर काफी ज्यादा महत्वपूर्णता से जोड़ दिया गया है और महिलाओं को सभी सेवाएं प्रदान करने के लिए भी सुविधाएं उपलब्ध है।
  • आप उस टिकट उपलब्ध होंगे जो कि महिला की गर्भवती स्थिति एवं जोखिम के कारक को दर्शाने का काम करेंगे। यह स्टिकर एमसीपी कार्ड पर हर जांच के दौरान जोड़ा जाएगा और इस स्टिकर से चिकित्सकों को काफी ज्यादा आसानी होगी।
  • यह स्टिकर दो प्रकार के प्रदान किए जा रहे हैं एक लाल और दूसरा हरा। हरे रंग म स्टिकर में सामान्य गर्भावस्था वाली महिलाओं को रखा जाएगा। और लाल रंग के स्टीकर में उच्च जोखिम वाली महिलाओं को रखा जा रहा है।

योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कैसे करें

यदि कोई व्यक्ति या गर्भवती महिला योजना के तहत लाभ लेने के लिए आवेदन करना चाहते हैं, तब नज़दीकी के जन सेवा केंद्र में जा सकते हैं या फिर नजदीकी सरकारी बाल विभाग केंद्र में जा सकते हैं। और वहां पर इस योजना के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं। उसी के साथ-साथ एप्लीकेशन मोबाइल माध्यम से भी राष्ट्रीय पोर्टल पर विकसित किया गया है। और ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

आप को कुछ आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत भी पड़ेगी जो कि महिला के और महिला के परिवार वालों के होंगे। साथ ही साथ में बच्चे के कुछ आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी जिसमें बच्चे की जांच के दौरान के सभी दस्तावेज चाहिए। और पात्रता मानदंड के अनुसार यदि आप इस प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना को पार कर लेते हैं तब आपको योजना के तहत लाभ प्राप्त करने हेतु स्वीकारा जाएगा।

conclusion

तो दोस्तों यह थी जानकारी प्रधानमंत्री सुरक्षा मातृत्व अभियान योजना के बारे में आशा है आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। सरकार द्वारा इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं के लिए एक नई पहल है। जिसके तहत महिलाओं को हर महीने की नौकरी तारीख को सभी प्रकार की सुविधाएं प्रदान की जाएंगी, जिसमें जांच होगी।

और माननीय प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम मन की बात में हाल ही में यह प्रधानमंत्री सुरक्षा मातृत्व अभियान में योजना के बारे में जानकारी सामने आई है कि लक्ष्य और शुरुआत के उद्देश्य पर उन्होंने प्रकाश डाला था। और उन्हों ने निजी क्षेत्र के स्त्री रोग विशेषज्ञों और चिकित्सकों से भी उनकी स्वैच्छिक सेवाएं देने की अपील की है।

राजस्थान विकलांग पेंशन योजना 2021: online apply form download status check

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं को उपयुक्त नैदानिक सेवाएं प्रदान की जाएंगी जिसमें क्लीनिंग की सुविधा भी उपलब्ध है। रक्ताल्पता, गर्भावस्था प्रेरित उच्च रक्तचाप, गर्भावधि मधुमेह आदि से बीमारियों का हल भी होगा उसी के साथ साथ जांच के साथ दवाई भी उपलब्ध कराई जा रही है।

और भी अधिक जानकारी के लिए आप प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जा सकते हैं यदि कोई सवाल हो तो नीचे कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं हम आपको जवाब देने की पूर्ण रूप से कोशिश करेंगे। धन्यवाद।

Leave a Comment