झारखंड विवाह पंजीकरण online apply form, जुर्माना और आवेदन शुल्क

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको झारखंड विवाह पंजीकरण के बारे में बताएंगे। दोस्तों अधिकतर आपने सुना ही होगा कि कई जगह मैरिज सर्टिफिकेट की बहुत आवश्यकता पड़ती है। क्योंकि मैरिज सर्टिफिकेट एक बहुत ही आवश्यक दस्तावेज होता है।

आज हम आपको झारखंड राज्य के अंदर आप विवाह पंजीकरण के लिए कैसे अप्लाई करें? इसकी जानकारी प्रदान करेंगे। दोस्तों कई स्थानों पर मैरिज सर्टिफिकेट लगाना होता है। इसलिए प्रत्येक दंपत्ति के पास मैरिज सर्टिफिकेट होना आवश्यक है। अगर आप झारखंड राज्य के निवासी हैं और क्या आप भी झारखंड मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना चाहते हैं?

तो आपके लिए हमारा यह आर्टिकल बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। आप हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से मैरिज रजिस्ट्रेशन की पूर्ण प्रक्रिया को जान पाएंगे। यदि आप झारखंड मैरिज सर्टिफिकेट की इस जानकारी को जानने के इच्छुक हैं तो आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

झारखंड विवाह पंजीकरण

झारखंड विवाह पंजीकरण – झारखंड शादी रजिस्ट्रेशन 

दोस्तों झारखंड राज्य में आम नागरिक अपना विवाह रजिस्टर्ड करा सकते हैं झारखंड की सरकार ने नागरिकों के लिए 1 साल के अंदर ही उनकी मैरिज का सर्टिफिकेट बनाना अनिवार्य कर दिया है। यदि आप झारखंड के निवासी हैं और आप शादीशुदा है तो आपको मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना होगा। यह सर्टिफिकेट झारखंड की सरकार ने शादीशुदा जोड़े के लिए अनिवार्य कर दिया है।

इसीलिए मैरिज सर्टिफिकेट होना बहुत जरूरी है दोस्तों सरकार ने यह निर्णय विवाह निबंधन नियमावली 2018 के तहत सुनिश्चित किया है। यह मैरिज रजिस्ट्रेशन आप ऑनलाइन पद्धति के माध्यम से करा सकते हैं अब झारखंड राज्य में केवल वही शादी कानूनी तौर पर मानी जाएगी। जिन दंपतियों का मैरिज सर्टिफिकेट होगा। दोस्तों एक बात यह भी है कि झारखंड राज्य में दंपतियों के पास मैरिज सर्टिफिकेट होना अति आवश्यक है क्योंकि इसका प्रयोग उन्हें कई स्थानों पर करना पड़ता है।

दोस्तों पहले झारखंड विवाह पंजीकरण मैरिज सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई करने हेतु नागरिकों को कई सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाने होते थे, परंतु झारखंड सरकार ने इस प्रक्रिया को आसान बना दिया है। अब नागरिक ऑनलाइन माध्यम से मैरिज सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई कर सकते हैं, नागरिक घर बैठे ही संबंधित दस्तावेजों के साथ मैरिज सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई कर सकते हैं और इसे ऑनलाइन हैं रिसीव कर सकते हैं।

झारखंड विवाह पंजीकरण में जुर्माना 

दोस्तों अगर किसी शादीशुदा दंपत्ति ने शादी के 1 साल के भीतर अपना मैरिज सर्टिफिकेट नहीं बनवाया है या अप्लाई नहीं किया है| तो उस दंपत्ति को जुर्माने के तौर पर प्रतिदिन के हिसाब से ₹5 जुर्माना राशि भरनी होगी और यह राशि कई अलग-अलग केसइस में ₹100 भी हो सकती है। जब नागरिक अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने के लिए अप्लाई करते हैं तब उनको ₹50 का शुल्क भी अदा करना होता है। यह शुल्क मैरिज सर्टिफिकेट की फीस के तौर पर जमा करना होता है दोस्तों यह रूल रेगुलेशन अलग-अलग धर्मों के हिसाब से अलग-अलग बनाए गए हैं।

मैरिज रजिस्ट्रेशन शहरी क्षेत्रों में नगर निगम या फिर नगर पार्षद या फिर नगरपालिका के माध्यम से किए जाते हैं जो अधिकारी जन्म मृत्यु पंजीकरण करने का कार्य करते हैं वह अधिकारी मैरिज रजिस्ट्रेशन का कार्य भी करते हैं। यदि आपको झारखंड विवाह पंजीकरण करने में कोई भी समस्या आ रही है तो आप अपने जिले के जन्म मृत्यु पंजीकरण करने वाले अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं और अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवा सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप छावनी परिषद के माध्यम से एवं प्रज्ञा केंद्र के माध्यम से भी विवाह रजिस्ट्रेशन करवा सकते  है।

harkhand Marriage Registration

योजनाझारखंड विवाह पंजीकरण
किसके द्वारा आरम्भ की गयीझारखंड की सरकार द्वारा
लाभार्थी कौन होंगेझारखंड राज्य के रहने वाले नागरिक
मुख्य उद्देश्यमैरिज सर्टिफिकेट ऑनलाइन प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://jharsewa.jharkhand.gov.in/
वर्ष2021
जुर्मानाप्रति दिन – ₹5
आवेदन शुल्क₹50
योजना केटेगरीstate govt schemes
श्रेणीJharkhand sarkari yojana
टाइपsarkari yojana

झारखंड शादी रजिस्ट्रेशन एप्लीकेशन फीस 

झारखंड विवाह पंजीकरण कराने के पश्चात आपका कुछ ही दिनों में प्रमाण पत्र बन कर आ जाएगा दोस्तों प्रमाण पत्र बनवाने हेतु आपको अपनी शादी से 15 दिन पहले ही पंचायत सचिवालय में अप्लाई करना होगा और इसके लिए आपको निर्धारित की गई ₹50 फीस भी जमा करनी होगी।

अगर शादी पर किसकी व्यक्ति को भी आपत्ति है तब इसके लिए आपको 7 दिन के अंदर ही अप्लाई करना होगा। दोस्तों इसका शुल्क अधिक है जो के झारखंड विवाह पंजीकरण क लिए इसका शुल्क ₹500 निर्धारित किया गया है। शादी सर्टिफिकेट पर अधिकृत पंचायत सचिव के सिग्नेचर होने आवश्यक है।

दोस्तों मैरिज रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया गांव के अंदर स्थित पंचायत भवन में पंचायत सचिवों तथा प्रज्ञा केंद्र के द्वारा की जाती है 28 जनवरी 2021 को पंचायत सचिव तथा प्रज्ञा केंद्रों को ट्रेनिंग दी गई है। इसके अतिरिक्त झारखंड के नागरिक अपना मैरिज सर्टिफिकेट के लिए रजिस्ट्रेशन खुद भी कर सकते हैं, इसके लिए उन्हें इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।

झारखंड विवाह पंजीकरण का मुख्य उद्देश्य

दोस्तों मैरिज सर्टिफिकेट के लिए आवेदन करना प्रत्येक दंपत्ति के लिए जरूरी है और झारखंड विवाह रजिस्ट्रेशन का मुख्य उद्देश्य राज्य में रह रहे सभी दंपतियों के मैरिज सर्टिफिकेट बनाना है। जिससे उन्हें किसी भी कानूनी कार्य को करने में कोई समस्या ना आए और वह अपनी मैरिज सर्टिफिकेट के माध्यम से कई योजनाओं और कई कानूनी कार्य में सफलता प्राप्त कर सके। इसीलिए झारखंड विवाह पंजीकरण कराना अनिवार्य है, दोस्तों आप खुद भी झारखंड विवाह पंजीकरण के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

जैसा कि हमने आपको पर बताया इसकी ऑफिशल वेबसाइट है जो झारखंड की सरकार ने निर्धारित की है, आप उस के माध्यम से अपना झारखंड विवाह पंजीकरण – रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं और अपना मैरिज सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी भी सरकारी कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं है। दोस्तों कई बार देखा जाता है जरूरी दस्तावेजों को बनवाने के लिए हम सरकारी कार्यालय जाते हैं पर वहां हमें धोखाधड़ी और रिश्वत का सामना करना पड़ता है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए आप ऑनलाइन मैरिज रजिस्ट्रेशन कर सकते है।

झारखण्ड विवाह पंजीकरण से होने वाले लाभ

  • झारखंड राज्य के निवासियों को अपने विवाह के 1 साल के अंदर ही विवाह रजिस्ट्रेशन कराना आवश्यक है।
  • यदि कोई दंपत्ति ऐसा नहीं करता है तब उसको निर्धारित किया गया जुर्माना भरना होगा।
  • यह डिसीजन झारखंड कि सरकार ने निर्णय निबंधन नियमावली 2018 के तहत लिया है।
  • और सरकार ने यह भी संदेश दिया है कि झारखंड के नागरिकों को अपने विवाह के 1 वर्ष के भीतर ही अपना मैरिज सर्टिफिकेट बनवाना जरूरी है।
  • आप इसके लिए घर बैठे ही ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
  • रजिस्ट्रेशन के पश्चात दंपत्ति की शादी को कानूनी तौर पर मान्यता दी जाएगी।
  • मैरिज रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात नागरिकों को मैरिज सर्टिफिकेट दिया जाता है।
  • इस का प्रयोग वह कानूनी कार्य को करने में या फिर योजनाओं का लाभ लेने के लिए करते है।
  • विवाह प्रमाण पत्र के कई फायदे होते हैं इसका प्रयोग हम सरकारी कार्यों में कर सकते हैं।
  • और दस्तावेज के रूप में उसको कई फॉर्म के साथ इसे अटैच कर सकते हैं।
  • झारखंड निवासियों को अब रजिस्ट्रेशन कराने के लिए किसी सरकारी कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं है।
  • नागरिक घर बैठे ही ऑनलाइन माध्यम से अपना मैरिज रजिस्ट्रेशन करा क्र सर्टिफिकेट प्राप्त सकते हैं।
  • इसके लिए उन्हें इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा और यहां जाकर मैरिज रजिस्ट्रेशन करना होगा।
  • और कुछ दिनों में प्रक्रिया पूर्ण होने पर सर्टिफिकेट नागरिक को दे दिया जाएगा।
  • दोस्तों ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करने से यह भी लाभ है कि आप के समय की तो बचत होती है।
  • साथ ही आपको किसी विभाग में रिश्वत भी नहीं देनी पड़ती है।

झारखंड विवाह पंजीकरण की विशेषताएं

  • अगर किसी शादीशुदा जोड़े ने शादी के 1 साल के अंदर ही अपना मैरिज सर्टिफिकेट नहीं बनवाया है तो उसे जुर्माना देना होगा।
  • सरकार ने इस जुर्माना राशि को ₹5 से लेकर ₹100 के अंदर निर्धारित किया है।
  • जुर्माना राशि की अधिकतम सीमा ₹100 निर्धारित की गई है।
  • मैरिज रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए नागरिकों को ₹50 का एप्लीकेशन शुल्क अदा  करना होगा।
  • विवाह रजिस्ट्रेशन के लिए बनाए गए नियम सभी धर्मों के लिए समान है।
  • शहर के लोगों के लिए विवाह रजिस्ट्रेशन का कार्य नगर निगम, नगर परिषद, नगर पालिका किया जाता है।
  • और अधिसूचना क्षेत्र समिति में जन्म मृत्यु रजिस्ट्रेशन करने वाले अधिकारियों के द्वारा भी मैरिज सर्टिफिकेट बनाया जाता है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों के अंतर्गत नागरिकों का जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र बनाने वाले अधिकारियों के माध्यम से विवाह प्रमाण पत्र बनाया जाता है।
  • इसके अतिरिक्त छावनी परिषद के माध्यम से प्रज्ञा केंद्र के द्वारा भी मैरिज रजिस्ट्रेशन किया जाता है।
  • सर्टिफिकेट बनवाने हेतु शादी से 15 दिन पहले पंचायत सचिवालय में एप्लीकेशन दी जाती  है।
  • अगर किसी व्यक्ति को शादी से आपत्ति है तो 7 दिन के अंदर उसे आवेदन करना चाहिए 7 दिन के अंदर आवेदन करने की फीस अलग है इसको सरकार द्वारा ₹500 निर्धारित किया गया है।
  • विवाह प्रमाण पत्र पर अधिकृत पंचायत सचिव के सिग्नेचर होने अति आवश्यक है।
  • 28 जनवरी 2021 को पंचायत सचिव तथा प्रज्ञा केंद्रों को ट्रेनिंग भी प्रदान की गई है।

विवाह पंजीकरण झारखंड की पात्रता

  • विवाहित दंपत्ति में यदि कोई भी मानसिक रूप से असंतुलित है तब उसका मैरिज सर्टिफिकेट नहीं बनाया जाएगा।
  • मैरिज सर्टिफिकेट के लिए सरकार में लड़के  की आयु 21 वर्ष निर्धारित की है और लड़की की आयु 18 वर्ष निर्धारित की है।
  • यदि हस्बैंड वाइफ में से कोई भी नागरिक भारतीय नहीं है तब उसका मैरिज सर्टिफिकेट कई प्रक्रियाओं के बाद बनाया जाएगा।
  • इसलिए मैरिज सर्टिफिकेट बनवाने के लिए आपको भारतीय नागरिक और झारखंड का निवासी होना अनिवार्य है।

झारखंड विवाह पंजीकरण आवश्यक दस्तावेज

  • दोनों वर और वधु का संयुक्त फोटो
  • वर का पासपोर्ट साइज फोटो, वधू का पासपोर्ट साइज फोटो
  • तीन गवाहों का पासपोर्ट साइज फोटो
  • तीनों गवाहों के डिजिटल हस्ताक्षर
  • वधू का डिजिटल हस्ताक्षर, वर डिजिटल हस्ताक्षर
  • वधू का आयु प्रमाण पत्र, वर का आयु प्रमाण पत्र
  • वर का निवास प्रमाण पत्र, वधू का निवास प्रमाण पत्र
  • विवाहित वर्ग के आधार कार्ड की प्रति,
  • विवाहित लड़की के आधार कार्ड की प्रति

झारखंड विवाह रजिस्ट्रेशन करने का प्रोसेस 

पोर्टल रजिस्ट्रेशन

  • दोस्तों आपको सबसे पहले झरसेवा की ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • ऑफिशियल वेबसाइट पर होम पेज ओपन हो जाएगा।
  • यहां आपको रजिस्टर योरसेल्फ के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • फिर स्क्रीन पर नया पेज ओपन हो जाएगा।
  • यहां आपको जरूरी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • जरूरी जानकारी जैसे  आपका नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, पासवर्ड, राज्य तथा कैप्चा कोड आदि।
  • फिर आपको फॉर्म सबमिट करना होगा।
  • इसके लिए आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • दोस्तों इस प्रकार आप इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर अपने विवाह सर्टिफिकेट को बनवाने के लिए रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे।

पोर्टल लॉगिन और रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

  • अब लोगिन करने के लिए आपको लॉग इन के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • फिर अपनी लॉगिन आईडी दर्ज करनी है और पासवर्ड दर्ज करना है।
  • दिखाए गए इमेज कोड के माध्यम से आपको कैप्चा कोड दर्ज करना है।
  • और लॉगइन ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके पश्चात आपको मैरिज रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • फिर आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर एप्लीकेशन फॉर्म ओपन हो जाएगा।
  • यहां इस फॉर्म में कुछ जरूरी जानकारी मांगी जाएगी।
  • जरूरी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच करना होगा।
  • फिर सरकार द्वारा निर्धारित किए गए आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा।
  • सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • दोस्तों इस प्रक्रिया को फॉलो करके आप झारखंड विवाह पंजीकरण पूर्ण कर पाएंगे।

रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात का प्रोसेस 

  • अब दोस्तों ऑनलाइन फॉर्म जमा करने के पश्चात आपको एक रेफरेंस नंबर मिल जाएगा।
  • यही रेफरेंस नंबर आपकी एक्नॉलेजमेंट स्लिप पर भी लिखा होगा।
  • इसके बाद आपको अपने एक्नॉलेजमेंट स्लिप और एप्लीकेशन फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल लेना होगा।
  • इस प्रिंटआउट को अपने पास सुरक्षित रखना होगा।
  • फिर सभी अपलोड किए गए दस्तावेजों की कॉपी को प्रिंट करके अपने पास रखना होगा।
  • भविष्य में कई वेरिफिकेशन के लिए इन सभी दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी।
  • आपके एप्लीकेशन करने के पश्चात 15 दिनों के भीतर ही संबंधित कार्यालय में आपको बुलाया जाएगा।
  • फिर कार्यालय में आपका वेरिफिकेशन किया जाएगा।
  • इस बार फिकेशन प्रक्रिया के पश्चात ही आपको मैरिज सर्टिफिकेट दिया  जाएगा।

ऑफिशियल वेबसाइट पर लॉगइन का प्रोसेस 

  • दोस्तों आपको सबसे पहले झारखंड की ऑफिशल वेबसाइट झरसेवा पर विजिट करना होगा।
  • अब आप होम पेज पर पहुंच जाएंगे।
  • इसके बाद आपको लॉगइन के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • स्क्रीन पर नया पेज ओपन हो जाएगा।
  • यहां आपको लॉगइन आईडी और पासवर्ड के माध्यम से लॉगइन करना होगा।
  • इसके अंदर आपको कैप्चा कोड भी दर्ज करना होगा।
  • इस प्रकार आप इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर लॉगइन  कर सकते हैं।

एप्लीकेशन की स्थिति को चेक करने का प्रोसेस 

  • दोस्तों आपको सबसे पहले इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपको होम पेज दिखाई देगा।
  • होम पेज पर आपको एप्लीकेशन स्टेटस के लिंक पर क्लिक करना है।
  • फिर सर्च कैटेगरी को सेलेक्ट करना है।
  • अब आपको एप्लीकेशन रेफरेंस नंबर दर्ज करना है।
  • इसके बाद आपको ओटीपी भी दर्ज करना है।
  • इसके बाद सर्च कैटेगरी के अनुसार आपको जानकारी दर्ज करनी है।
  • सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • एप्लीकेशन का जो भी स्टेटस होगा, वह आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रदर्शित हो जाएगा।

Leave a Comment